लहसुन खाने के फायदे | और नुकसान Garlic [2024]

लहसुन एक प्राकृतिक एंटीबायोटिक है जो मनुष्य शरीर के कई प्रकार के बैक्टीरिया और वायरस से लड़ सकता है। लहसुन (Lahsun) खाने के कई प्रकार के तरीके है जिनके इस्तेमाल से आप इसके गुणों का लाभ आसानी से ले सकते है

लहसुन प्राचीन काल से ही चिकित्सकों के बीच एक लोकप्रिय नुस्खा था। लहसुन एक प्राकृतिक एंटीबायोटिक है जो मनुष्य शरीर के कई प्रकार के बैक्टीरिया और वायरस से लड़ सकता है। लहसुन में प्रोटीन, फास्फोरस और पोटैशियम जैसे कई पोषक तत्व पाए जाते हैं जो पाचन में मदद करता है और रक्त में कोलेस्ट्रॉल को भी कम करता है। लहसुन की खासियतों का पता हजारों साल पहले ही चल चुका था और भारत में लहसुन की खेती हजारों साल पहले मध्य एशिया से आई थी ।

Table of Contents

इतिहास बताता है कि भारत में लहसुन का उपयोग 4500 सालों से हो रहा है। पूरी दुनिया में सबसे ज्यादा लहसुन चीन में पैदा होता है, यहाँ तक कि पूरी दुनिया में पैदा होने वाले कुल लहसुन का 73.8 फीसदी सिर्फ चीन ही पैदा करता है और इसे दुनियाभर में बेचता भी है। वही दूसरी और पूरी दुनिया में भारत इसके उत्पादन में 10.4 फीसदी के साथ दूसरे नंबर पर है और बांग्लादेश 1.7 प्रतिशत के साथ तीसरे नंबर पर आता है ।

लहसुन खाने के तरीक़े

1. सुबह खाली पेट लहसुन खाने के फायदे

अगर आप खाली पेट लहसुन का सेवन करते हैं तो इससे आपकी सेहत कई गुना सुधर जाएगी। दरअसल, आयुर्वेद में बताया गया है कि लहसुन आपको कई बीमारियों से जैसे कि बढ़ा हुआ कोलेस्ट्राल, खून का थक्का जम जाना, कब्ज, कान का दर्द, ब्लड प्रेशर, ब्लड शुगर, भूख बढाने आदि से छुटकारा दिलाता है। आप सुबह उठकर ऐसे ही 2-3 कली लहसुन का खा सकते है या फिर आप चाहे तो इसे भुनकर भी खा सकते हैं।

2. लहसुन की चाय के फायदे

ये तो ज्यादातर सभी जानते है कि लहसुन भोजन को स्वादिष्ट बनाने के साथ-साथ सेहत को भी दुरुस्त रखता है लेकिन दिल की सेहत के लिए लहसुन की चाय बहुत फायदेमंद साबित हो सकती है. इससे शरीर में रक्त संचार बेहतर होता है. इसकी चाय रोग प्रतिरोधक क्षमता (immunity booster) को भी मजबूत करने का काम बखूबी करती है और सर्दी खांसी (cold cough) में भी लहसुन की चाय एक औषधि की भांति लाभकारी होती है |

3. लहसुन और शहद के फायदे

  • लहसुन और शहद में कई ऐसे तत्त्व पाए जाते है, जो इम्यूनिटी को मजबूत बनाने में मदद करते है इसलिए इम्यूनिटी को मजबूत बनाने के लिए लहसुन और शहद का एक साथ सेवन करना बहुत ही फायदेमंद माना जाता है।
  • अगर आप अपना वजन कम करना चाहते है तो आपको लहसुन और शहद के मिश्रण का सेवन जरूर करना चाहिए।
  • गले की खराश से राहत पाने के लिए लहसुन और शहद का मिश्रण बहुत ही फायदेमंद माना जाता है। लहसुन और शहद में एंटी- इंफ्लेमेट्री गुण पाए जाते हैं, जो गले की खराश के साथ सूजन को कम करने में मदद करते हैं।
  • लहसुन और शहद में शरीर के अंदर की गर्मी बढ़ाने वाले गुण भी पाए जाते है। इसलिए लहसुन और शहद मिश्रण के सेवन से शरीर के अंदर की गर्मी बढ़ती है। जिससे यह मिश्रण सर्दी जुकाम में काफी फायदेमंद साबित होता हैं।

4. भुना हुआ लहसुन खाने के फायदे

भुना हुआ लहसुन एंटीऑक्सिडेंट का एक समृद्ध स्रोत है, जो शरीर को ऑक्सीडेटिव तनाव और मुक्त कणों से बचाने के लिए आवश्यक है। जिससे यह शरीर इम्यूनिटी बढ़ाने के साथ साथ पुरानी बीमारियों, जैसे हृदय रोग, कैंसर और अन्य बीमारियों के जोखिम को कम करने में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं | रोज सुबह खाली पेट भुना हुए लहसुन की 2-3 कलियां खाने से शरीर में बिमारीयों से लड़ने कि प्रतिरोधक क्षमता बढ़ जाती है.

5. रोजाना खाना पकाने में लहसुन

भोजन को स्वादिष्ट बनाने के साथ लहसुन के अन्य लाभों को अपने दैनिक आहार में शामिल करने का सबसे आसान तरीका इसे अपने भोजन में शामिल करना है। लहसुन को आप रोजाना सब्जियों, दाल, करी, सूप सहित विभिन्न प्रकार के व्यंजनों के साथ इस्तेमाल कर सकते है।

6. लहसुन का तेल

लहसुन का तेल का इस्तेमाल लहसुन के लाभों का आनंद लेने का एक और सुविधाजनक तरीका है। इसके तेल का उपयोग खाना पकाने, सलाद ड्रेसिंग, भुनी हुई सब्जियों या ब्रेड पर स्वाद बढ़ाने के लिए किया जा सकता है। लहसुन का तेल फंगल इंफेक्शन को भी रोकने में मददगार साबित होता है | इस तेल की मालिश से हड्डियों का दर्द भी आसानी से दूर हो जाता है और साथ ही हड्डियां भी मजबूत भी बनी रहती है | इसमे पाए जाने वाले एंटीबैक्टीरियल गुण दांत के दर्द को कम करने में मदद करता है।

इसे भी पढ़े>>> रोज़ सुबह बादाम खाने के फ़ायदे क्या हैं?

लहसुन खाने के फायदे

1. सर्दी और खाँसी में लाभदायक होता है लहसुन(Garlic)।

लहसुन खासतौर पर खांसी और सर्दी के संक्रमण को दूर करने में मददगार होता है। खाली पेट लहसुन की दो कलियों का सेवन करने से सबसे अधिक लाभ होता है। बच्चों और शिशुओं के लिए, उनकी गर्दन के चारों ओर एक धागे में लहसुन की कलियाँ लटकाने से कंजेशन के लक्षणों से राहत मिल सकती है। यह एक प्राकृतिक औषधि है जो बीमारियों के खिलाफ रोकथाम करती है और स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद करती है।

2. हृदय के लिए लाभदायक होता है लहसुन।

लहसुन का सेवन करने से कोलेस्ट्रॉल का स्तर कम होता है और हृदय स्वास्थ्य में सुधार होता है। लहसुन के नियमित सेवन से खून के जमने की दिक्कत कम हो जाती है और इस प्रकार Thromboembolism को रोकने में मदद मिलती है। इसके साथ ही, लहसुन रक्तचाप(Blood Pressure) को भी कम करता है, इसलिए उच्च रक्तचाप(High Blood Pressure) के रोगियों के लिए अच्छा है। उच्च रक्तचाप(High Blood Pressure) को नियंत्रित करने के लिए, स्वस्थ आहार, व्यायाम, और नियमित चेकअप की आवश्यकता होती है।

3. मस्तिष्क का कार्यक्षमता को बढ़ाता हैं लहसुन।

लहसुन एक शक्तिशाली खाद्य पदार्थ है जिसमें एंटीऑक्सीडेंट और सूजन-रोधी गुण होते हैं। इसका सेवन मस्तिष्क के स्वास्थ्य को सुधारता है और न्यूरोडीजेनेरेटिव(Neurodegenerative) बीमारियों जैसे अल्जाइमर(Alzheimer) और डिमेंशिया(Dementia) के खिलाफ लड़ाई में मदद करता है। इसके नियमित उपयोग से मस्तिष्क की क्षमता में वृद्धि होती है और याददाश्त में सुधार करता है। इसके अलावा, लहसुन रक्त प्रवाह को बढ़ाता है जिससे मस्तिष्क को अधिक आवश्यक आपूर्ति मिलती है और इसकी कार्यक्षमता बढ़ती है। इसलिए, लहसुन को आपके दिनचर्या में शामिल करके आप मस्तिष्क के स्वास्थ्य को संरक्षित रख सकते हैं और न्यूरोडीजेनेरेटिव बीमारियों के खिलाफ सुरक्षित रह सकते हैं।

4. पाचन में सुधार लाता हैं लहसुन।

कच्चे लहसुन को आहार में शामिल करने से ना सिर्फ पाचन संबंधी समस्याएं बेहतर होती हैं, बल्कि इससे आंतों को भी फायदा होता है और सूजन कम होती है। अधिकतर मानव शरीर में पेट के कीड़े पाए जाते हैं, लेकिन कच्चा लहसुन खाने से यह कीड़े बाहर निकल जाते हैं। इससे शरीर के आंत्रिक प्रणाली का संतुलन बना रहता है। कच्चे लहसुन का सेवन करने से न केवल खराब बैक्टीरिया नष्ट होते हैं, बल्कि यह आंत में अच्छे बैक्टीरिया को भी बढ़ावा देता है। इससे आंत्रिक स्वास्थ्य में सुधार होता है और शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली मजबूत होती है। इसलिए, नियमित रूप से कच्चे लहसुन का सेवन करना आपके स्वास्थ्य के लिए बहुत ही फायदेमंद हो सकता है।

5. वजन कम करने में मदद करते हैं लहसुन।

लहसुन वसा जमा करने वाली वसा कोशिकाओं के निर्माण के लिए जिम्मेदार जीन(Genes) की अभिव्यक्ति को कम कर देता है। इसके अलावा, यह शरीर में थर्मोजेनेसिस(Thermogenesis) को भी बढ़ाता है, जिससे अधिक वसा को जलाने में मदद मिलती है। वहीं, यह अधिक एलडीएल (खराब कोलेस्ट्रॉल) को कम करने में भी मदद करता है। इसके प्रभावी उपयोग से सेहत में सुधार होता है और लोग अपने वजन को नियंत्रित करने में सफलता प्राप्त करते हैं।

लहसुन खाने के नुकसान

1. लो ब्लड प्रेशर वाले लोगों के लिये।

लहसुन को हाई ब्लड प्रेशर वाले रोगियों के लिए लाभदायक माना जाता है, लेकिन अगर आपका ब्लड प्रेशर नियंत्रित है, तो इसका सेवन आपके लिए हानिकारक हो सकता है। इससे आपका ब्लड प्रेशर और नियंत्रित हो सकता है, जो अनुचित हो सकता है। इसलिए, सही मात्रा में लहसुन का सेवन करना महत्वपूर्ण है, और ब्लड प्रेशर के स्तर के आधार पर इसका उपयोग करना चाहिए।

2. जिन्हें दस्त और उलटी की समस्या हो।

खाली पेट लहसुन का सेवन करने से सीने में जलन की समस्या हो सकती है, और यह उल्टी और दस्त की समस्या को भी बढ़ा सकता है। इसलिए, लहसुन का सेवन करने से पहले खाने वाली दवा के साथ उपयुक्त सलाह लेना चाहिए। इसके अलावा, खाली पेट लहसुन का सेवन करने से पहले पानी पीना भी उपयुक्त हो सकता है, ताकि इससे ज्यादा प्रभाव न पड़े।

3. जिन्हें एसिडिटी की समस्या हो।

एसिडिटी की समस्या होने पर किसी भी काम में नहीं लगता है, लेकिन यह जान लेना महत्वपूर्ण है कि जरूरत से अधिक लहसुन का सेवन एसिडिटी की समस्या को बढ़ा सकता है। लहसुन में मौजूद तत्व एसिडिटी को बढ़ा सकते हैं, जिससे पेट में जलन और तकलीफ हो सकती है। इसलिए, एसिडिटी की समस्या वाले व्यक्तियों को अत्यधिक लहसुन का सेवन से बचना चाहिए और उन्हें अपने आहार में संतुलित रूप से लहसुन का सेवन करना चाहिए।

4. ब्लीडिंग की समस्या हो सकती है।

लहसुन में खून को पतला करने के गुण पाए जाते हैं, लेकिन अगर आप इसका जरूरत से ज्यादा सेवन करते हैं, तो आपको ब्लीडिंग की समस्या हो सकती है। इसलिए, लहसुन का सीमित मात्रा में ही सेवन करना उचित होता है। अत्यधिक लहसुन का सेवन आपके शरीर में रक्त की पतलापन को बढ़ा सकता है, जिससे आपको ब्लीडिंग की समस्या हो सकती है। इसलिए, एक संतुलित और सीमित मात्रा में लहसुन का सेवन करना अच्छा होता है।

5. मुंह की बदबू बढ़ाता है लहसुन।

लहसुन में कई तरह के सल्फर कंपाउंड होते हैं, जिनके कई हेल्थ बेनिफिट्स होते हैं, लेकिन ये कंपाउंड सांसों की बदबू का कारण बन सकते हैं। मुंह की बदबू का कारण बनने के साथ, लहसुन का सेवन भी आपके मुँह के स्वास्थ्य को प्रभावित कर सकता है। इसलिए, अधिक संतुलित रूप से लहसुन का सेवन करने से इस समस्या को कम किया जा सकता है। इसके अलावा, सही मुंह की हाइजीन के लिए भी नियमित डेंटल हाइजीन जैसे मुंह की सफाई और प्रचुर पानी पीना महत्वपूर्ण है।

Disclaimer- यह लेख सामान्य जानकारी के लिए हैं। लहसुन खाने के कई स्वास्थ्य लाभ है, लेकिन ध्यान रहे किसी भी तरह की समस्या या एलर्जी अगर होती है तो चिकित्सक से अवश्य परामर्श ले।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top