Affiliate Marketing क्या है और इसे कैसे शुरू करें? 2024

इंटरनेट के इस दौर में शहर से लेकर गांव तक हर कोई धीरे-धीरे इंटरनेट और स्मार्टफोन के ऊपर निर्भर हो रहे हैं। यह लोगों के जीवन का एक अहम हिस्सा बन गया है। धीरे-धीरे लोग ऑफलाइन से ऑनलाइन की ओर बढ़ रहे हैं। इसे देखते हुए ही बड़ी बड़ी कंपनियां भी अपने मार्किट रणनीति (Market Strategy) में बदलाव कर रही है। बहुत सारी कंपनी और संगठनों (Organizations) ऑफलाइन मार्केटिंग से डीजिटल मार्केटिंग (Digital Marketing) में शिफ्ट हो रही है। तो इसी डीजिटल मार्केटिंग (Digital Marketing) का एक अहम हिस्सा एफिलिएट मार्केटिंग (Affiliate Marketing) है जिसे आप भी शुरू करके घर बैठे लाखों कमा सकते है। तो आज इस पोस्ट में हम आपको एफिलिएट मार्केटिंग (Affiliate Marketing) के बारे में बताएंगे।

Table of Contents

एफिलिएट मार्केटिंग (Affiliate Marketing) क्या है (What is Affiliate Marketing)

एफिलिएट मार्केटिंग (Affiliate Marketing) डिजिटल मार्केटिंग का वह हिस्सा है जिसमें लोग अपने किसी सोर्स (Source) जैसे वेबसाइट, ब्लॉग और सोशल मीडिया की मदद से किसी कंपनी और संगठन (Organizations) के उत्पाद (Product) के प्रचार या खरीदने के लिए सिफारिश (Recommend) करते हैं और जब भी कोई इन अनुशंसित या प्रचारित उत्पादों (Recommend or Promoted Products) को खरीदता है, तो उस उत्पाद के विक्रय (Sale) का निश्चित प्रतिशत कमीशन के तौर पर हमें मिलता है।

एफिलिएट मार्केटिंग (Affiliate Marketing) में हर उत्पाद के अलग अलग कमीशन प्रतिशत तय होते हैं। घर बैठे  पैसा कमाने का यह काफी आसान तरीका है। एफिलिएट मार्केटिंग (Affiliate Marketing) से पैसे कमाने के लिए सबसे पहले आपको कंपनी के एफिलिएट मार्केटिंग (Affiliate Marketing) प्रोग्राम में रजिस्टर करना होगा उसके बाद ही आप इसका लाभ ले सकते हैं।

एफिलिएट मार्केटिंग (Affiliate Marketing) के अंतर्गत कुछ ध्यान रखने योग्य बातें

आज काफी सारी कम्पनियाँ अपने उत्पाद और सेवाओं की मार्केटिंग के लिए एफिलिएट मार्केटिंग (Affiliate Marketing) का सहारा ले रही हैं। तो आइये जानिए कैसे आप इसमें कुछ विशेष बातों को ध्यान में रखकर आसानी से काफी अच्छी कमाई कर सकते हैं –

सही वर्ग (Category) का चुनाव

एफिलिएट मार्केटिंग (Affiliate Marketing) के लिए सबसे ज़रूरी है एक सही वर्ग (Category) का चुनाव। इसके लिए आपको सबसे पहले यह तय करना होगा कि आपको किस चीज़ में ज्यादा रूचि है। क्योकि जब आप अपने रूचि के वर्ग में काम करते हैं, तो आप बहुत ही अच्छे तरीके से काम कर पाएंगे। मान लीजिये आप टेक वर्ग (Tech Category) चुनते हैं, तो इसके लिए आपको कोडिंग, इलेक्ट्रॉनिक आइटम, कंप्यूटर भाषा (Coding , Electronic Items, Computer Language) जैसे सभी टॉपिक के बारे में लिखना होगा। जिसके बाद इनसे जुड़ी कम्पनियाँ अपने उत्पादों या सेवाओं को प्रचार कराने के लिए आपसे संपर्क करेंगी।

अच्छी वेबसाइट (Good Website)

अपनी रूचि के वर्ग को चुनने के बाद आपको एक अच्छी वेबसाइट बनानी होगी। ध्यान रहे कि आपकी वेबसाइट का डिज़ाइन और लुक्स आकर्षक होने चाहिए ताकि लोग आकर्षित होकर आपकी वेबसाइट पर आएं, तो वे वापस ना जा पाएं। इसके अलावा अपनी वेबसाइट पर कंटेंट (Content) उच्च गुणवत्ता वाली और आकर्षक (high quality and attractive) रखें ताकि लोगों की रूचि इसमें बनी रहे।

वेबसाइट ट्रैफिक (Website Traffic)

किसी भी काम का सबसे बड़ा गोल होता है आय उत्पन्न (Revenue Generate) करना चाहे वो फिर ऑनलाइन हो या फिर ऑफलाइन | ऑनलाइन आय (Revenue) तभी आएगा, जब आपकी वेबसाइट पर ट्रैफिक होगा। इसके लिए आपको सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन (Search Engine Optimization) की जानकारी प्राप्त करनी होगी। वेबसाइट पर ट्रैफिक लाने के लिए आप सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म की भी मदद ले सकते हैं क्योकि आज के समय में वेबसाइट पर ट्रैफिक लाने में सोशल मीडिया एक एहम भूमिका निभाता है। एक बार जब आपकी वेबसाइट पर अच्छे से ट्रैफिक आने लगता है, तो कम्पनिया अपने उत्पादों औरसेवाओं का प्रचार करने के लिए आपसे संपर्क करती है।

यदि आपके पास किसी एक वर्ग में अच्छी जानकारी है, तो एफिलिएट मार्केटिंग (Affiliate Marketing) आपके लिए एक अच्छा व्यापार (Business) साबित हो सकता है।

Affiliate Marketing

एफिलिएट मार्केटिंग (Affiliate Marketing) के लाभ

  1. शुरू करना और बढ़ोतरी करना आसान

एफिलिएट मार्केटिंग (Affiliate Marketing) कई लोगों के लिए एक अच्छा विकल्प हो सकता है क्योंकि इसे शुरू करना ज्यादा मुश्किल नहीं है। इसमें उत्पाद बनाने की लंबी प्रक्रिया से नहीं गुजरना पड़ता है और ना ही आपको नए उत्पाद बनाने के बारे में चिंता करने की आवश्यकता है। इसमें उत्पाद बिक्री के बाद की ग्राहक सेवा संबंधी चिंताओं को संभालने की आवश्यकता नही होती है। एक बार जब आप अपना उपयोगकर्ता (User) आधार बढ़ा लेते हैं, तो आप अपने उपयोगकर्ता के जीवनकाल मूल्य (Lifetime Value) बढ़ाने के लिए नए उत्पाद और सेवाएं (products and services) भी पेश कर सकते हैं।

  1. निष्क्रिय आय (Passive income)

एफिलिएट मार्केटिंग (Affiliate Marketing) निष्क्रिय आय (Income) का एक स्थिर सोर्स (Stable Source) प्रदान करता है मतलब है कि अगर आपने एक बार अपने ट्रैफिक सोर्स सेट अप कर लिया है तो उसके बाद आप ज्यादा उपयोगकर्ता के आने पर नई बिक्री उत्पन्न कर सकते हैं। इसके अतिरिक्त, यदि आप आवर्ती कमीशन (Passive Income) प्राप्त करते हैं तो आप एफिलिएट मार्केटिंग (Affiliate Marketing) से और भी अधिक आवर्ती कमीशन (Passive Income) अर्जित कर सकते हैं।

  1. कम जोखिम भरा (Less Risky)

एफिलिएट मार्केटिंग (Affiliate Marketing) ऑनलाइन आय का एक कम जोखिम(Low-Risk) वाला तरीका है। किसी उत्पाद को लॉन्च करने की तुलना में किसी वेबसाइट और ट्रैफ़िक सोर्स को स्थापित करने की लागत (Cost) बहुत कम आती है। इसमें अगर आपको कभी भी लगता है कि आपके कुछ सेवाएं या उत्पाद आपके उपयोगकर्ताओं को आकर्षित नहीं कर रहे हैं, तो आप कभी भी किसी नए उत्पादों या सेवाओं का प्रचार शुरू कर सकते हैं।

  1. लचीलापन (Flexibility)

डिजिटल मार्केटिंग के अन्य तरीकों की तरह ही एफिलिएट मार्केटिंग (Affiliate Marketing) में काफी लचीलापन(Flexibility) होता है। जब तक और जहाँ कही तक आप इंटरनेट का उपयोग कर पा रहे हैं तब तक आप कहीं भी एफिलिएट मार्केटिंग (Affiliate Marketing) का उपयोग कर आसानी से पैसे कमा सकते हैं। साथ ही, इसमें आपको स्वतंत्र रूप से काम करने की क्षमता मिलती है।

  1. अधिक पहुंच (Great Reach)

एफिलिएट प्रोग्राम (Affiliate Program) चलाने का सबसे बड़ा लाभ यह है कि इसके इस्तेमाल से कंपनी अपनी पहुंच का विस्तार कर पाती है। इसके साथ ही उत्पाद या सेवाएं उन ग्राहकों तक पहुँचने में सक्षम होते हैं, जिन्हें वे अन्यथा चूक जाते। हालांकि इसमें अपने खुद के उपयोगकर्ता बनाने में समय तो लगता है लेकिन कई बार उत्पाद और सेवाएं (Product or Services) के पास अपने स्वयं के प्लेटफ़ॉर्म और सक्रिय उपयोगकर्ता होते हैं। यदि कोई व्यापारी के व्यवसाय के अनुरूप है, तो वह जल्दी ही ट्रैफिक का एक मूल्यवान सोर्स बन जाता है।

इसे भी पढ़े >>>>Off Page SEO क्या है? पूरी जानकारी के साथ 2024

एफिलिएट मार्केटिंग (Affiliate Marketing) से कितना कमा सकते हैं?

एक एफिलिएट मार्केटिंग (Affiliate Marketing) विभिन्न उच्च मांग वाले उत्पादों का प्रचार करके कमीशन के रूप में असीमित आय अर्जित कर सकता है। हालांकि इसमें अपना तालमेल और अपना नेटवर्क बनाने में कुछ समय अवश्य लग सकता है, लेकिन एक बार इसमें आपकी श्रृंखला स्थापित हो जाने के बाद, आप हर महीने लाखों रूपये आसानी से कमा सकते हैं।

एफिलिएट मार्केटिंग (Affiliate Marketing) से सम्बंधित कुछ Definitions.

    • एफिलिएट (Affiliates): एफिलिएटस (Affiliates) उन्हें कहा जाता है जो किसी एफिलिएट प्रोग्राम (Affiliate Program) को जोड़कर उनके उत्पादों और सेवाओं को अपने किसी ब्लॉग या वेबसाइट द्वारा प्रचार करते हैं।
  • एफिलिएट मार्किटप्लेस (Affiliate Marketplace): कुछ कंपनियां जो एफिलिएट प्रोग्राम (Affiliate Program) प्रदान करती हैं उन्हें एफिलिएट मार्किटप्लेस (Affiliate Marketplace) कहा जाता है।
  • एफिलिएट आईडी Affiliate ID: यह एफिलिएट प्रोग्राम (Affiliate Program) के द्वारा हर एक एफिलिएट को दी गयी यूनिक आईडी(Unique ID) होती है।
  • एफिलिएट लिंक (Affiliate Link): अलग-अलग उत्पादों के प्रचार के लिए कुछ लिंक्स दिए जाते हैं, जिन पर क्लिक करके उपयोगकर्ता कोई उत्पाद या सेवा खरीद सकें। इन एफिलिएट लिंक (Affiliate Links) के द्वारा ही एफिलिएट प्रोग्राम (Affiliate Program )वाले बिक्री को ट्रैक (Track) करते है।
  • कमीशन (Commission): यह एफिलिएट मार्केटर (Affiliate Marketer) को प्रत्येक बिक्री के हिसाब से कुछ प्रतिशत दी जाने वाली निश्चित राशि होती है।
  • एफिलिएट मैनेजर (Affiliate Manager): एफिलिएटस की मदद या सुझाव (टिप्स) लिए एफिलिएट प्रोग्राम्स (Affiliate Programs) में नियुक्त किये गए व्यक्ति को एफिलिएट मैनेजर (Affiliate Manager) कहते हैं।
  • भुगतान का प्रकार(Payment Mode): वह माध्यम जिसके द्वारा आपको आपकी कमीशन (Commission) की राशि दी जायेगी। जैसे कि चेक, वायर ट्रांसफर, पेपैल (Cheque, Wire Transfer, PayPal) इत्यादि।
  • भुगतान दहलीज (Payment Threshold): वह न्यूनतम राशि जिसे अर्जित करने के बाद आप अपनी धनराशि निकाल सकते हैं। विभिन्न प्रोग्राम्स की भुगतान दहलीज राशि अलग-अलग है।

Affiliate Marketing

FAQs

  1. कौन करता है एफिलिएट मार्केटिंग (Affiliate Marketing)

सारे ब्लॉगर और वेबसाइट वाले एफिलिएट मार्केटिंग (Affiliate Marketing) बिलकुल नहीं कर सकते हैं केवल वही एफिलिएट मार्केटिंग (Affiliate Marketing) कर सकते हैं जिनके पास फोल्लोवेर्स (Followers) की संख्या अधिक है। क्योंकि ई-बिजनिस (E-Business) करने वाली कम्पनियाँ उपयोगकर्ताओं की संख्या देखकर ही ब्लॉगर से एफिलिएट मार्केटिंग (Affiliate Marketing) के बारे में बात करते हैं। साथ ही यह भी देखा जाता है कि ब्लॉगरस (Bloggers) का अपने उपयोगकर्ता पर कितना प्रभाव है।

  1. एफिलिएट मार्केटिंग (Affiliate Marketing) से कैसे करें कमाई

ऑनलाइन मार्केटिंग की दुनिया बहुत बड़ी है जिसमे उपयोगकर्ताओं की भरमार है। आज की ऑनलाइन की दुनिया में एफिलिएट मार्केटिंग (Affiliate Marketing) ऐसे काम करता है जैसे एक दुकान मालिक को अपनी दुकान में बेचने के लिए सामान भरता है और फिर अलग अलग ग्राहक को उसके अनुसार बेचता है बिलकुल ऐसे ही एफिलिएट मार्केटिंग (Affiliate Marketing) में अपने ब्लॉग या वेबसाइट पर संभावित ग्राहक (Potential Customers) की लम्बी-चौड़ी फौज इकट्ठी करनी होती है। बस फिर आप उसे अपने सामान के बजाय किसी और का सामान बेचने में इस्तेमाल करते हैं जिसके बदले में वह आपको इस काम के लिए कमीशन देता है।

  1. एफिलिएट मार्केटिंग (Affiliate Marketing) में कितनी कमीशन (Commission) मिलती है?

एफिलिएट मार्केटिंग (Affiliate Marketing) में जब आप किसी भी कंपनी के उत्पादों या सेवाओं की बिक्री कराते हो तो वह कंपनी आपको उस उत्पाद या सेवा की वर्ग (Category) के अनुसार कमीशन देती है। हर किसी उत्पाद आधारित कंपनी (Product Based Companies) अपने उत्पादों की अलग अलग वर्ग के हिसाब से कमीशन रखती है।

  1. क्या एफिलिएट मार्केटिंग (Affiliate Marketing) करने के लिए Experience जरूरी है?

यहाँ हम आपको बताना चाहेंगे कि एफिलिएट मार्केटिंग (Affiliate Marketing) प्रोग्राम के लिए आपको किसी भी अनुभव की जरूरत नहीं होती, आपको बस कंपनी के उत्पादों या सेवाओं को ऑनलाइन विक्रय करना होता है। जिसके लिए आपकी वेबसाइट पर ज्यादा से ज्यादा ट्रैफिक होना चाहिए ताकि ज्यादा उपयोगकर्ता उत्पादों के बारे में जाने और आप ज्यादा बिक्री करा पाए।

आशा करते है कि यह पोस्ट आपके लिए लाभदायक साबित हुई होगी और एफिलिएट मार्केटिंग (Affiliate Marketing) से संबंधित यदि कोई भी प्रश्न हो तो नीचे कमेंट्स में अवश्य पूछें। अगर आपको यह जानकारी पसंद आई हो तो इसे लाइक और शेयर जरूर करें।

फेसबुक पेज से जुड़ने के लिए निचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें।

https://www.facebook.com/Theindustime/

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top